Monday, 18 February 2013

Koldam migrants Fight Against Management 5th Day


एनटीपीसी प्रोजेक्ट से प्रभावितों की हड़ताल 5वें दिन भी रही जारी




एनटीपीसी परियोजना में चल रही विस्थापितों व प्रभावितों की हड़ताल रविवार को पांचवें दिन में प्रवेश कर गई। प्रदर्शनकारियों ने हरनोड़ा के जीरो चौक में प्रबंधन वर्ग के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की। बारिश के बावजूद विस्थापितों के हौंसले में कोई कमी नहीं आई। इस आंदोलन में भारी संख्या में महिलाओं और बुजुर्गों सहित युवाओं ने बढ़ चढ़ कर भाग लिया। विस्थापितों ने संघर्ष के दौरान सदर विधायक की भूमिका पर सवाल उठाए हैं। राजकुमार चौधरी, राजेंद्र ठाकुर, राजकुमार ठाकुर, अनिल ठाकुर, जगदीश कुमार, गीता देवी, सुरेंद्रा, विद्या, निर्मला, यशोदा, सत्या, शिवदेई, अमर सिंह, अशोक शर्मा, सुखराम ने रोष व्यक्त करते हुए कहा कि संघर्ष में सभी राजनैतिक विचारधारा के लोग शामिल हैं।

 लेकिन स्थानीय विधायक ने इसका राजनैतिक लाभ लेने की दृष्टि से विस्थापितों को गुमराह करने का प्रयास किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि विधायक विस्थापितों की मांगों को मनवाने के लिए नाकाम रहा है। प्रबंधन के सामने उन्होंने अपना प्रभाव दिखाया और विस्थापितों के समक्ष वाहवाही लूटे। सोमवार तक रोजगार और मुफ्त बिजली की मुख्य मांगों को लेकर विस्थापितों के संघर्ष का समर्थन करने वाले राजनेता किस आधार पर संघर्ष को वापिस लेने की अपील कर रहे हैं। विधायक के व्यवहार से खफा विस्थापितों ने कहा कि वह अपने लड़ाई स्वयं लड़ेंगे तथा उनकी मुख्य मांगों को न मानने तक उनका संघर्ष जारी रहेगा।